‘स्त्रियों को गुलाम क्यों बनाया गया’ – ईवी रामासामी पेरियार – ओमप्रकाश कश्यप

70.00200.00

स्त्रियों को गुलाम क्यों बनाया गया – ई.वी. रामासामी पेरियार स्त्री विमर्श/सामाजिक न्याय

हिंदी संस्करण – ओमप्रकाश कश्यप

Pages: 131

THANTHAI PERIYAR E.V.RAMASAMY

Erode Venkatappa Ramasamy Periyar

Description

बीसवीं शताब्दी में जिन लोगों ने सामाजिक न्याय और भारतीय समाज के आधुनिकीकरण के लिए संघर्ष किया, उनमें ई ईवी रामासामी पेरियार सबसे प्रमुख हैं. प्रस्तुत पुस्तक ‘स्त्रियों को गुलाम क्यों बनाया गया’ में वे एक क्रांतिकारी विचारक के रूप में प्रस्तुत हैं. पुस्तक में जिस तरह से वे स्त्री पराधीनता के कारणों को चिन्हित करते हैं, वैसी दृष्टि सिवाय आंबेडकर के किसी के भी पास नहीं थी.
1934 में पहली बार तमिल में प्रकाशित पुस्तक को हिंदी में आते—आते 88 वर्ष लग गए. लेकिन पुरानी होने के बावजूद इस पुस्तक में अधिकांश बातें ऐसी हैं, जिनकी प्रासंगिकता जितनी तब थी, उतनी ही आज भी है.
दस्तावेजी पुस्तक को ‘पेनमेन बुक्स’ के नाम से लाते हुए हम गौरवान्वित हैं.

Additional information

Authors

Omprakash Kashyap, Periyar E. V. Ramasamy

Format

Digital, Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “‘स्त्रियों को गुलाम क्यों बनाया गया’ – ईवी रामासामी पेरियार – ओमप्रकाश कश्यप”

Your email address will not be published.