रूह की आवाज़ – ग़ज़ल संग्रह – डॉ. राकेश तिलक राज

60.00

ग़ज़ल संग्रह : रूह की आवाज़

ग़ज़लकार : डॉ. राकेश तिलक राज

पन्ने – 102

Description

ग़ज़ल को आमतौर पर ज़ज़्बात की विधा माना गया है. सफल ग़ज़लग़ो वही है जो कम शब्दों में भावनाओं के समंदर को उड़ेल सके. डॉ. राकेश तिलक राज की ग़ज़लें इस कसौटी पर खरी उतरती हैं. उनकी ग़ज़लों में जहाँ प्रेम और उसकी दीवानगी तथा बिछोह की पीड़ा है; वहीं इंसानियत का दर्द भी है. उम्मीद है कि पाठकों को हमारा यह प्रयास पसंद आएगा और वे इस संग्रह तथा ग़ज़लगो को अपने भरपूर प्यार से नवाज़ेंगे.

Additional information

Authors

डॉ. राकेश तिलक राज, Dr. Rakesh Tilak Raj

Format

Digital

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “रूह की आवाज़ – ग़ज़ल संग्रह – डॉ. राकेश तिलक राज”

Your email address will not be published.

You may also like…