बचपन और बालसाहित्य के सरोकार | लेखक ओमप्रकाश कश्यप

225.00650.00

बचपन और बालसाहित्य के सरोकार

लेखक ओमप्रकाश कश्यप

बालसाहित्य समीक्षा आलोचना

पन्ने – 464

Description

“बालमनोविज्ञान के पारखी ओमप्रकाश कश्यप की यह पुस्तक कई मायनों में अनूठी है. यह न केवल अच्छे बालसाहित्य की विशेषताओं को रेखांकित करती है, अपितु बालक के समाज और उसके माता-पिता के अलावा तेजी से बदल रहे परिदृश्य, बालक की इच्छा, आकांक्षा, सपनों और समस्याओं से भी संवाद करती है.

पुस्तक न केवल बालसाहित्य के लेखकों तथा सामान्य पाठकों के लिए उपयोगी है, अपितु बालसाहित्य के क्षेत्र में शोध कर रहे विद्यार्थियों के लिए भी इसमें भरपूर सामग्री है.”

बालक आज परिवार के केंद्र में है, लेकिन बचपन को हम कितना समझते हैं, यह बात दावे के साथ नहीं कही जा सकती. ‘बचपन और बालसाहित्य के सरोकार’ साहित्य और बालमनोविज्ञान के अंतर्संबंधों को समझने की कुंजी है. पुस्तक केवल बालक के लिए अच्छे साहित्य की आवश्यकता को ही चिन्हित नहीं करती, अपितु बालमन की गुत्थियों को समझने में भी मदद करती है. अभिभावकों, विद्यार्थियों से लेकर अकादमिक दुनिया से जुड़े विद्वानों के लिए यह एक जरूरी पुस्तक है.

 

Additional information

Authors

Omprakash Kashyap

Format

Digital, Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “बचपन और बालसाहित्य के सरोकार | लेखक ओमप्रकाश कश्यप”

Your email address will not be published.